Published On: Sun, Nov 10th, 2019

Rinku Gupta accused of Rape and Murder of Minor girl-Kalan, Shahjahanpur, UP

“Baraklan pradhan  Rajvetti’s son Rinku Gupta accused of Rape and Murder of Minor girl No FIR of this duel crime has been registered since Nov 2016 to Nov 2019.”

Kalan ,  Shahjahanpur , Uttar Pradesh : The case is of the village Barakalan of Kalan police station in District Shahjahanpur uttar pradesh. The people of village Barakalan alleged that on 28 November 2014, Barakala gram pradhan Rajvetti son Rinku Gupta raped and killed minor doughter of Santram .

Baraklan pradhan  Rajvetti's son Rinku Gupta accused of Rape and Murder of Minor girl No FIR of this duel crime has been registered since Nov 2016 to Nov 2019

Baraklan pradhan  Rajvetti’s son Rinku Gupta accused of Rape and Murder of Minor girl No FIR of this duel crime has been registered since Nov 2016 to Nov 2019

It is known that Aarti, an minor daughter of Santram of Barakalan village, she was living with his brother Ashish’s wife. The people of village Barakalan alleged that when Aarti was alone at her home, the village’s pradhan son Rinku Gupta raped Aarti at her home arround 5 pm in the evening. When Aarti opposed Rinku, he hanged Aarti several times until her death.

When Aarti’s family came to know about this crime, they protested, than Rinku Gupta along with his companions (Situ, Gaurav Gupta, Sourav Gupta, Suresh Gupta, Kishanpal Dhobi, Morpal Dhobi, Ratanpal Dhobi) beaten up her family members very badly.  After this Rinku Gupta secretly buried the dead body of Aarti without informing the police.

When the matter was inquired about by speaking on Pradhan’s Mo.No. 8853446340 . After Aarti’s murder, gram pradhan son Rinku Gupta and his companions took her body 17 kms away from the house and buried the body of Aarti.

A respected person called and asked to suppress the matter. But in the talks, Aarti also has two brothers, one is Ashish and the other is Munash. Of which Aarti lived with Ashish’s wife and Ashish works in Delhi. Aarti’s father Santram is present but Aarti’s mother is dead!

Overall, some respected people including Pradhan hanged Aarti many times and finally in one accord they took the dead body of Aarti in the tractor trolley of Gram Pradhan for cremation. Aarti’s body was illegally buried without a post-mortem to mislead the police.

It is to be noted that (from 2016 to 2019), neither the police have registered any FIR nor has any investigation process been initiated of this double crime. Now the question is, will the killers of Aarti ever be punished according to Indian law? Will Aarti ever get justice?

बाराकलाँ प्रधान पुत्र रिंकू गुप्ता पर नावालिग लड़की से बलात्कार और हत्या का आरोप

“बाराकलां प्रधान राजवेटी  पुत्र रिंकू गुप्ता पर नावालिग लड़की से बलात्कार और हत्या का आरोप.”

“2016  से अब तक इस दोहरे अपराध की FIR नहीं दर्ज की गयी।”

कलाँन शाँहजहाँपुर उत्तर प्रदेश : मामला थाना कलान के  ग्राम बाराकलां का है. गांव बालों ने आरोप लगाया कि दिनांक  28 नवम्बर २०१६ को बाराकलां प्रधान राजवेटी  पुत्र रिंकू गुप्ता ने गांव के ही संतराम की नावालिग लड़की से बलात्कार किया और फिर उस मासूम को फांसी पर लटकाकर हत्या कर दी।

ज्ञात है कि बाराकलां गांव के संतराम की नावालिग बेटी आरती  अपने भाई आशीष की पत्नी के साथ रहती थी. गांव बालों ने आरोप लगाया कि जब आरती घर पर अकेली थी तभी गांव के प्रधान पुत्र रिंकू गुप्ता ने शाम 5 बजे  मौका पाकर आरती के साथ बलात्कार किया. आरती के विरोध करने पर मौजूदा प्रधान राजबेटी  का पुत्र रिन्कू ने आरती को कई  बार फांसी पर लटकाया।  जब तक आरती की मृत्यु नहीं हो गई तब तक रिंकू गुप्ता आरती को फांसी पर लटकाता और उतारता रहा।

Baraklan pradhan  Rajvetti's son Rinku Gupta accused of Rape and Murder of Minor girl No FIR of this duel crime has been registered since Nov 2016 to Nov 2019

Baraklan pradhan  Rajvetti’s son Rinku Gupta accused of Rape and Murder of Minor girl No FIR of this duel crime has been registered since Nov 2016 to Nov 2019

जब इसकी खबर आरती के परिवार बालों को लगी और उन्होंने विरोध किया  तो प्रधान पुत्र रिंकू गुप्ता ने अपने साथिओं (सीटू , गौरव गुप्ता , सौरव गुप्ता , सुरेश गुप्ता , किशनपाल धोबी , मोरपाल धोबी , रतनपाल धोबी) के साथ मिलकर आरती के घर बालों को बुरी तरह पीटा। इसके बाद रिंकू गुप्ता ने बिना पुलिस को सूचना दिए गोपनीय तरीके से  आरती के शव का अन्तिम सँस्कार करवा दिया।

जब  इस मामले मे प्रधान के मो०न० 8853446340 पर बात करके जानकारी ली तो प्रधान पुत्र रिंकू गुप्ता अपनी ही बातों में फस गया और बोला बाराकलां पुलिस चौकी बालों को बताया परन्तु पुलिस चौकी बाले आए ही नहीं और हो गया शव का क्रिया-क्रम।

आरती बिना शादी शूदा थी. आरती की हत्या के बाद  प्रधान पुत्र रिंकू गुप्ता और उसके साथिओं ने  घर से 17 कि०मी० दूर ले जाकर आरती के शव को दफना दिया था ।

एक  सम्मानित व्यक्ति ने फ़ोन  कर मामले को दबाने के लिए कहा  और यह भी कहा इस बात को यही दबा दो.  लेकिन बातो ही बातो मे  यह भी बताया कि आरती के दो भाई है , एक आशीष व दुसरा मुनैश है.  जिसमे से  आशीष कि पत्नी के साथ आरती रहती थी और आशीष दिल्ली मे काम करता है.  आरती के पिता सन्तराम मौजूद है परन्तु  आरती कि माँ मर चूकि है !

कूल मिलाकर प्रधान सहित कुछ सम्मानित लोगो ने आरती को कई बार फाँसी पर लटकाया और अन्त मे एक राय होकर आरती के शव को उतार कर ग्राम प्रधान के ट्रैक्टर ट्राली द्रारा क्रिया क्रम के लिए ले गये  ! पुलिस को गुमराह करके बिना पोस्टमार्टम करवाए गैर कानूनी तरीके से आरती के शव को दफना  दिया।

ध्यान देने की बात है कि (2016 से 2019 तक)  अब तक इस दोहरे अपराध की न ही तो पुलिस  ने किसी तरह की FIR दर्ज की  और ना ही कोई जाँच प्रक्रिया शुरू की गयी।  अब प्रश्न ये है के क्या कभी भी  आरती के हत्यारों को भारतीय  क़ानून के अनुसार सजा मिलेगी  ? क्या कभी भी आरती को न्याय मिल पायेगा ?